How to focus 100% in books? – पढ़ाई में मन केसे लगाए।

यदि आपका padhaai Mein man Nahin Lagta तो इस article को जरूर पढ़ें। इस में आपको How to focus on study के बारे में बताया गया है कि आप किस तरह से apni padhaai Mein focus kar sakte hain। Padhaai karte Time अगर कुछ याद नहीं होता तो उस का सबसे बड़ा कारण है concentration की कमी। दिमाग का इधर-उधर भटकना। दिमाग को इधर-उधर भागने से कैसे बचाएं? इस artical के लास्ट तक आप अच्छी तरह से जान जाओगे। तो हमेशा की तरह बिना time waste किए topic शुरु करते हैं।

How to focus 100% in books? – पढ़ाई में मन केसे लगाए। (Padhaai Mein man Kaise lagaen)

मान लो आप एक Target लेकर पढ़ाई करने के लिए बैठ गए, कि मुझे इतनी देर पढ़ाई करनी है या फिर इतने topic कवर करके हि उठना है। और जिस moment से आप यह decide करके पढ़ाई शुरू करते हो, तो ठीक उसी पल से आपकी दिमागी thoughts आपके साथ game खेलना चालू कर देती हैं।

इस भटकते हुए दिमाग की सबसे बुरी बात यह है कि आपको पता भी नहीं चलता कि आप सामने रखी किताब से बाहर निकलकर कब किसी और दुनिया में पहुंच गए। और किताब के उसी एक page में, उसी एक line में और यहां तक कि उसी एक शब्द में कितने लंबे time से अटके हुए हों। आप अपने thoughts में इतने घूल जाते हो कि आपको time का भी पता नहीं पड़ता। 10-10 घंटे, 15-15 घंटे पढ़ने के बाद भी आप का result कमजोर आता है। तो यह बात तो हो गई problems कि।

अब पढ़ते time दिमाग को एक जगह पर कैसे रखें? (Padhte time dimag ko ek Jagah per Kaise rakhen)

देखो आपको करना यह है कि जिस moment में आपको यह पता चल जाए ‘कि यार मेरा ध्यान किताब में नहीं बल्कि किसी और जगह पर है’ तो उसी वक्त आपको एक काम करना है। आपका मन जिधर भी भटक कर पहुंच गया ठीक उसी point से आप उसको reverse gear में track करो। यानी कि आपने किताब से ध्यान हटा कर के उस point तक पहुंचने के बीच में जो कुछ भी सोचा उस को एक movie समझकर उल्टा play करो।

For example :- मान लो आप ने पढ़ाई करना चालू किया 10 मिनट पढ़ाई की, फिर आपको पता ही नहीं लगा कि आप पढ़ाई के बीच में पता नहीं क्या क्या सोचकर किसी 2 साल पुराने दोस्त के घर में शादी वाले सीन में चले गए हो। आपने खुद अपने दिमाग को अपनी thought को रंगे हाथ 2 साल पुरानी शादी में पकड़ लिया। आपको पता लग गया कि थोड़ी देर पहले तो मैं किताब में था लेकिन अब मैं जिसके बारे में सोच रहा हूं वह यह चीज है।

अब जब आपने अपने आप के thought को पकड़ लिया तो क्या करना चाहिए?

Investigation, सवाल करो अपने आप से उसी time, कि आपके दिमाग में इस शादी वाली thought से जस्ट पहले कौन से thought the, वह पक्का किसी और thought से जुड़ी होगी। जब आपको realise होगा कि यार दोस्त के घर में शादी के बारे में सोचने से जस्ट पहले मैं अपने उसी दोस्त के बारे में सोच रहा था। अब आपको दोनों thought में एक connection मिल गया।

अब दोस्त के बारे में क्यूं सोच रहे थे? आपने फिर पूरे घटनाक्रम को rivers में चलाया, तो आपको answer मिला कि दोस्त के बारे में सोचने के जस्ट पहले मैंने अपने रूम में वह शर्ट देखी थी, जिससे मिलती-जुलती शर्ट मेरे उस दोस्त के पास भी है। Connection मिल गया।

यानी कि कितने छोटे-छोटे लेकिन खतरनाक connection से आपने अपने room में अपनी शर्ट को देखा। वैसी सेम शर्ट आपके दोस्त के पास भी है। और आप उसके बारे में सोचने लगे और उसके बारे में सोचते सोचते पहुंच गए आप उसके घर पर हुई उस शादी में जो 2 साल पहले आपने attend करी थी। यह मैंने आपको एक बहुत छोटा सा connection बताया है। नहीं तो thoughts के बहुत complicated connection बन जाते हैं।

तो reverse tracking से आपको problem की जड़ पकड़ में आ गई। कि जो गलती आपने अभी अपनी शर्ट को अपने सामने टांगकर के कि है, उसको अगली बार ना करो। वह शर्ट आपके लिए एक distraction है। उसको पढ़ते time अपने सामने मत रखो।

  • Read also: –

1. How to set goals in life?

2.Mahatma Gandhi Biography in hindi.

How to focus 100% in books? – पढ़ाई में मन केसे लगाए।  (Padhaai Mein man Kaise lagaen)

इस तरह से जब भी आप अपने दिमाग को भटकते हुए पकड़ो तो उसको rivers में track करो। और अपने आप से सवाल करो कि उसका root point क्या था। कहां से शुरू हुआ, आपको उस root point को manage करना है। जहां से आपके disturbance चालू होते हैं और एक thought से दूसरी thought में connection बनता जाता है, बनता जाता है। हो सकता है आपके thought मोबाइल के notification से चालू हो गए हो, कोई गाना सुनकर के हो गए हो, किताब पर चढ़े हुए अखबार के कवर पर कुछ लिखा होगा, कोई आर्टिकल छपा होगा, हो सकता है खिड़की के पास बैठ कर पढ़ रहे हो उसके बाहर कुछ देखा होगा।

तो बहुत सारी region हो सकते हैं। उनको एक-एक करके सब को manage करते जाओ, सबको अपने पढ़ाई के टाइम पर हटाते जाओ। सब को इस तरह से manage करो कि आप पढ़ते time इन सब चीजों से दूर रह सको। अपनी थॉट्स को rivers में track करो और हां यह tracking एकदम से नहीं होगा। इसकी practice करो, और फिर पढ़ाई करो। देश में अपना नहीं बल्कि दुनिया में देश का नाम करो।

दोस्तो उम्मीद करता हूं कि आपको यह artical  पढ़ाई में मन केसे लगाए। (Padhaai Mein man Kaise lagaen)

पसंद आया होगा। अगर आपको यह artical पसंद लगा, तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। और हमें नीचे कमेंट करके अपनी राय जरूर दें। आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद।

Yogi

Recent Posts

5 Tips For Personality Development | 5 बातें व्यक्तित्व विकास के लिए | Best Motivational speech।

5 Tips For Personality Development ऐसा क्यों होता है? जिन लोगों की हम सबसे ज्यादा… Read More

सितम्बर 15, 2020

10 types of toxic people | इन 10 तरह के लोगों से हमेशा दूर रहें | inspirational speech | motivational speech

10 types of toxic people जिंदगी में अगर सही इंसान कोई आ जाए तो आपकी… Read More

सितम्बर 9, 2020

7 Best Daily Habits for Your Success | 7 आदतें आपकी सफलता के लिए।

Best Daily Habits for Your Success Habits यानी की आदतें। आपकी आदतें हि आपका भविष्य… Read More

सितम्बर 5, 2020

How to become Rich in real life.| अमीर कैसे बनें।

How to become Rich in real life.|अमीर कैसे बनें? Skills जो हमें एक extra advantage… Read More

सितम्बर 2, 2020

Carryminati success story.| Biography | Carryminati सफलता की कहानी।

Carryminati success story: - कहते हैं कि सफलता के पीछे भी बहुत सारी असफलताओं का… Read More

अगस्त 27, 2020

Dashrath Manjhi-The Mountain Man Biography In Hindi | दशरथ मांझी का जीवन परिचय।

माना कि जिंदगी कांटो भरा सफर है लेकिन इस्से गुजर जाना ही अस्ली पहचान है।… Read More

अगस्त 25, 2020